Polity Notes in Hindi – Complete Study Material for Polity

Easy to Read and Learn Complete Polity Notes in Hindi – ‘भारतीय संविधान का अध्ययन’ इस Series में हम प्रयास करेंगे की Polity जो सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण विषय है, को परीक्षा की दृष्टी से अत्यंत ही सार एवं संक्षिप्त रूप में हम पढ़ें। क्योंकि परीक्षा चाहे UPSC की हो या State PSC’s की या SSC अथवा कोई भी अन्य प्रतियोगी परीक्षा, Polity एक महत्वपूर्ण विषय है। किन्तु प्रायः यह देखा गया है की Polity से पूछे गये प्रश्नों में सीधे पूछे गये प्रश्नों की अपेक्षा कूट-मिलान वाले प्रश्नों की संख्या अधिक होती हैं, जो ज्यादातर प्रतिभागियों के लिए उलझन पैदा करते हैं तथा यह उलझन Concept के क्लियर ना होने या रटकर याद करने की आदत के कारण पैदा होते हैं। इस Series में हम यही प्रयास करेंगे की इस महत्वपूर्ण विषय को रटने के बजाय हम सरल तरीके से समझने की कोशिश करें। इस Series की शुरुवात हम भारतीय संविधान के प्रारंभिक विकास क्रम या कंपनी के शासन से करेंगे।

भारत का संवैधानिक विकास (कंपनी का शासन)

भारतीय संविधान का निर्माण 26 नवम्बर 1949 को पूर्ण हुआ तथा 26 जन 1950 को इसे पूर्णतः लागू किया गया किन्तु भारत में प्रशासनिक नियंत्रण की गतिविधि सन 1600 में ईस्ट इंडिया कम्पनी की स्थापना के साथ ही शुरू हो गयी थी। नियंत्रण स्थापित करने हेतु ईस्ट इंडिया कंपनी एवं ब्रिटिश शासन द्वारा समय-समय पर विभिन्न Act लाए गये जिसका प्रभाव वर्तमान में लागू संविधान के प्रावधानों पर प्रभावी रूप से पड़ा।

अलग-अलग प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टिकोण से हम इन Act को सरल तरीके से याद रखने हेतु मुख्यतः तीन बिन्दुओं के द्वारा समझने की कोशिश करेंगे, ये तीन बिंदु हैं-

  • पृष्ठभूमि (Background)- यह एक्ट क्यों लाया गया?
  • प्रावधान (Provision or Features)- इस एक्ट के प्रावधान क्या थे या इस एक्ट के अंतर्गत क्या नियम व कानून बनाये गये?
  • प्रभाव (Effect)- इस एक्ट का भारतीय जनता या वर्तमान में लागू संविधान पर क्या प्रभाव पड़ा?

यदि उपरोक्त तीन बिन्दुओं के आधार पर हम भारत के संवैधानिक विकास को समझें तो हमें इन्हें रटने की आवश्कता नहीं होगी बल्कि इसे आसानी से समझकर संविधान निर्माण की प्रक्रिया तक पहुँच सकते हैं। लेकिन in Act को Detail में पढ़ने के पहले यदि एक नज़र में यह जान लें की ये Act कब और क्यूँ लाये गए तो आगे बढ़ने में हमें आसानी होगी, इसे हम नीचे दिए Infographic के माध्यम से समझने की कोशिश करेंगे-Bhatiya Sanvidhan ka Vikas

यदि आप Polity पहली बार पढ़ रहे हैं और ऊपर दिए Infographic को आपने अच्छी तरह पढ़ लिया है, फिर भी आपको कुछ समझ नही आया तो घबराएँ नही यह शुरुवात करने के लिए Mind-Map मात्र है। विभिन्न Act को विस्तार में पढने के बाद हम इस पर फिर से नज़र डालेंगे तब तक यह आपको पूरी तरह Clear हो जाएगा, तो चलिए शुरू करते हैं।

Easy to Read Polity Notes in Hindi

कंपनी का शासन (1773 से 1853)

ताज का शासन/Crown rule (1858 से 1947)

संविधान का निर्माण

  • संविधान की प्रमुख मांगे व सिफारिशें
  • केबिनेट मिशन
  • संविधान सभा की बैठकें एवं समितियां

संविधान के भाग, अनुच्छेद, अनुसूचियां एवं परिशिष्ट

  • भाग- 1 संघ, राज्य एवं उसके क्षेत्र (29 राज्य एवं 07 केन्द्रशासित प्रदेशों का गठन)
  • भाग- 2 नागरिकता
  • भाग- 3 मौलिक अधिकार (अनुच्छेद 12 से 35)

यदि आपको हमारा यह प्रयास उपयोगी लग रहा हो तो इस Chapter को Share अवश्य करें, एवं हमसे जुड़े रहने के लिए हमें हमारे विभिन्न Social Profiles पर Join करें।

12 thoughts on “Polity Notes in Hindi – Complete Study Material for Polity”

  1. Bhut hi shandar ….thank you so much …isse padhne se kafi help mili ..ek ek topic ko itne acche se charts ek jariye cover Kiya gya h that is outstanding

    Reply
  2. Best Content in uniform and adequate manner for HINDI Medium aspirants .
    आपका क्रमबद्ध रूप से विश्लेषण अत्यंत सुगम हैं ।
    इस प्रकार के प्रयास बहुत की कम हैं हिंदी माध्यम के लिए

    Reply
    • धन्यवाद प्रशांत जी! कृपया विजिट करते रहें।

      Reply

Leave a Comment